indian army ज्वाइन करना हर भारतवासी का सपना होता है। भारत के नौजवान, आर्मी में शामिल होकर देश की रक्षा करने को निडर हमेशा तैयार रहते हैं। भारतीय सेना हर मौसम चाहे वो भीषण गर्मी हो या सर्दी, सूखा हो या बाढ़ का समय देश की सेवा के लिए निडर तैनात रहते हैं। indian army में भर्तियां भी समय-समय पर निकलती ही रहती है। indian army ज्वाइन करने के इक्छुक उम्मीदवार इन भर्तियों में शामिल हो सकते हैं। आधिकारिक वेबसाइट के अनुसार आर्मी ज्वाइन करने के इक्छुक छात्र अपनी योग्यता के अनुसार ऑफिसर सेलेक्शन श्रेणी या जेसीओ/ओआर एनरोलमेंट के अंतर्गत आवेदन कर सकते हैं। क्या आपको भारतीय सेना ज्वाइन करनी है, क्या आप भारतीय सेना में ऑफिसर बनना चाहते हैं, अगर आप भारतीय सेना ज्वाइन करना चाहते हैं, तो ये आर्टिकल आपके लिए काफी उपयोगी होने वाला है, इस आर्टिकल को पूरा पढ़ने के बाद आप indian army ज्वाइन कैसे करे, ये सब जान पाएंगे।

भारतीय सेना एक परिचय

भारत सरकार भारत की तथा इसके प्रत्‍येक भाग की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए उत्तरदायी है। भारतीय शस्‍त्र सेनाओं की सर्वोच्‍च कमान भारत के राष्‍ट्रपति के पास है। भारतीय शस्‍त्र सेना में तीन प्रभाग हैं: भारतीय थल सेना, भारतीय नौ सेना और भारतीय वायु सेना। भारतीय सेना विश्व की चौथी सबसे ताकतवर सेना है, और चीन के बाद दुनिया की सबसे बड़ी सेना भारतीय सेना ही है। भारतीय सेना की स्थापना आज से 125 वर्ष पहले हुई थी, तारीख 1 अप्रैल 1895; भारतीय सेना का स्थापना दिवस है। भारतीय सेना का मुख्यालय नई दिल्ली में है, और इसके अध्यक्ष भारत के राष्टपति होते हैं। अभी वर्तमान में भारतीय सेना के चीफ जनरल मनोज मुकुंद नरवणे हैं। 15 जनवरी को आर्मी डे भारतीय सेना के लिए मनाया जाता है।

indian army ज्वाइन कैसे करे 2021 ?

indian army ज्वाइन करने के लिए अलग अलग लेवल के आवेदन जारी किये जाते हैं। आर्मी में शामिल होने के इक्छुक उम्मीदवार 10वीं, 12हवीं या ग्रेजुएशन के बाद आवेदन कर सकते हैं। आयुसीमा 18 वर्ष, एजुकेशनल क्वालिफिकेशन, फिजिकल और मेडिकल के सभी मानकों को पूरा करने वाला उम्मीदवार सेना में भर्ती होने योग्य होता है। सेना में भर्ती प्रत्येक वर्ष में कम से कम एक बार अपने जिले के अंतर्गत आने वाले सेना भर्ती कार्यालयों द्वारा की जाती है। भर्ती कार्यक्रम स्थानीय समाचार पत्रों में प्रकाशित किया जाता है, और अन्य मीडिया के माध्यम से भी प्रचारित किया जा तब बच्चे इसमें शामिल होते हैं।

indian army ज्वाइन की प्रक्रिया

indian army ज्वाइन करने के लिए आपके पास 10वी पास, 12वी पास और ग्रेजुएशन पास के बाद उम्मीदवार अलग अलग पदों के लिए आवेदन कर सकते हैं। आप लोगों को मैं एक बात और बता दूं कि काफी सारे स्टूडेंटो के मन में एक  विचार उठता है। कि इसमें कोई परसेंटेज तो नहीं मांगता मैं बता दूं  आप सिर्फ 10वीं और 12वीं और ग्रेजुएशन पास हो बस।

indian army में भर्ती की आम प्रक्रिया

indian army में भर्ती के लिए सामान्यतः नीचे दी गयी 7 प्रक्रिया का पालन किया जाता है।

  • सबसे पहले उम्मीदवारों को मापदंडों के अनुसार आधिकारिक वेबसाइट joinindianarmy.nic.in पर जाकर आवेदन करना होता है।
  • इसके बाद आवेदन करने वाले उम्मीदवारों के दस्तावेजों की जाँच की जाती है।
  • इसके बाद Physical Fitness Test का आयोजन किया जाता है।
  • इस टेस्ट को पास करने के बाद Physical Measurement Test ली जाती है।
  • इसमें उत्तीर्ण होने वाले उम्मीदवारों को मेडिकल एग्जामिनेशन के लिए बुलाया जाता है।
  • मेडिकल एग्जामिनेशन के बाद उम्मीदवारों की लिखित परीक्षा ली जाती है।
  • सभी चरणों को पूरा करने के बाद चुने हुए उम्मीदवारों की मेरिट लिस्ट बनायीं जाती है और उनमें शस्त्र और सेवाएं अलॉट कर दिए जाते हैं।
  • इसके बाद प्रशिक्षण केंद्रों के लिए चुने गए उम्मीदवारों का नामांकन कर लिया जाता है और उन्हें अपने केंद्रों में रिपोर्ट करने के लिए भेज दिया जाता है।

indian army में सीधी भर्ती

सेना में तुरंत भर्ती, संबंधित रेजिमेंट / कोर प्रशिक्षण केंद्रों के माध्यम से नीचे दिए गए उम्मीदवारों को सैनिक ड्यूटी के रूप में प्रदान किया जाता है :

  • उम्मीदवार युद्ध में शहीद का एक बेटा हो।
  • उम्मीदवार युद्ध में शहीद का एक सगा भाई हो, जब मृतक अविवाहित था / या जिसका एक पुरुष बच्चा नहीं था।
  • उम्मीदवार युद्ध में शहीद के एक सगा भाई जिसने शहीद के विधवा पत्नी से शादी की हो, और जिसका किसी भी तरह का बच्चा न हो।
  • युद्ध में शहीद के एक सगा भाई बशर्ते वह शहीद की विधवा पत्नी से शादी कर लेता है जिसके एक पुरुष बच्चा है, लेकिन जिसकी नामांकन के लिए उचित आयु नहीं हुई है।
  • उम्मीदवार बैटल कैजुअल्टी का एक असली बेटा हो जब बैटल कैजुअल्टी को मेडिकल ग्राउंड पर सेवा से बाहर कर दिया गया है।

उम्मीदवारों को आयु, शैक्षिक योग्यता, शारीरिक माप और चिकित्सा मानकों को पूरा करना होगा। शारीरिक माप में सैनिकों / पूर्व सैनिकों के बेटों पर लागू रियायतें भी ऐसे मामलों में दी जाएंगी। उन्हें फिजिकल फिटनेस टेस्ट और लिखित परीक्षा जैसे किसी औपचारिक परीक्षण के माध्यम से नहीं रखा जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here